अम्बेडकरनगर

जागरुकता के आधार पर ही कुपोषमुक्त होगा जिला* अंबेडकरनगर। जिले को कुपोषणमुक्त बनाने की जिम्मेदारी सभी स्वास्थ्य कर्मियों की है।

बेनकाब भ्रष्टाचार बीबी न्यूज़ इंडिया

*जागरुकता के आधार पर ही कुपोषमुक्त होगा जिला*

अंबेडकरनगर। जिले को कुपोषणमुक्त बनाने की जिम्मेदारी सभी स्वास्थ्य कर्मियों की है।

  • की स्वस्थ होने पर ही सकारात्मक सोच आएगी। ये बातें रविवार को अकबरपुर नगर के मीरानपुर स्थित संयुक्त सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में पोषण पखवारे का शुभारंभ करते हुए अकबरपुर नगर पालिका परिषद अध्यक्ष सरिता गुप्ता ने कही। उन्होंने स्वास्थ्य कर्मियों से अपील की कि वे गांव-गांव, घर-घर जाकर ग्रामीणों को न सिर्फ विभिन्न बीमारियों के बारे में जानकारी दें बल्कि उससे बचाव के बारे में भी बताएं।
    गौरतलब है कि 8 मार्च से 22 मार्च तक पोषण पखवारा मनाया जा रहा है। रविवार को इसका शुभारंभ करते हुए सरिता गुप्ता ने कहा कि अभियान को सफल बनाने की जिम्मेदारी आंगनबाड़ी कर्मचारियों, आशा बहुओं व एएनएम पर है। उन्हें चाहिए कि वे गांव-गांव, घर-घर जाकर कुपोषण के शिकार बच्चों का चिह्नांकन करें। आंगनबाड़ी केंद्रों से उन्हें पुष्टाहार बढ़ाएं। यदि कोई बच्चा अतिकुपोषित की श्रेणी में मिले तो उसे इससे बाहर करने के लिए जिला अस्पताल में भर्ती कराएं। जागरूकता के आधार पर ही जिले को कुपोषण मुक्त किया जा सकता है।
    बाल विकास परियोजना अधिकारी शेषनाथ वर्मा ने कहा कि स्वास्थ्य कर्मियों की जिम्मेदारी है कि वे गांव-गांव, घर-घर जाकर गर्भवती की पहचान करें। उनका निकटवर्ती सरकारी अस्पताल में पंजीकरण कराएं। समय-समय पर जांच कराएं। यदि खून की कमी हो, तो आवश्यकतानुसार न सिर्फ आयरन की गोली दें बल्कि आयरनयुक्त भोजन करने के लिए प्रेरित भी करें। बाद में स्वास्थ्य कर्मियों को पखवारे को सफल बनाने के लिए शपथ भी दिलाई गई।

    बेनकाब भ्रष्टाचार

  • Related Articles

    Back to top button