Breaking News

विश्व दाल दिवस के अवसर पर किसानों को बाॅटे गये मूंग दलहन बीज के मिनी किट

विश्व दाल दिवस के अवसर पर किसानों को बाॅटे गये मूंग दलहन बीज के मिनी किट

विश्व दाल दिवस के अवसर पर किसानों को बाॅटे गये मूंग दलहन बीज के मिनी किट
चित्र सख्या 06 व 07 तथा फोटो कैपशन
बहराइच 12 फरवरी। विगत सोमवार को विश्व दाल दिवस के अवसर पर कृषि भवन बहराइच के सभागार में आयोजित कार्यक्रम के दौरान विकास खण्ड फखरपुर, तजवापुर व हुज़ूरपुर के 45 से अधिक कृषकों को मूंग दलहन बीज के मिनी किट का वितरण किया गया। कार्यक्रम में मौजूद उप कृषि निदेशक डाॅ. आर.के. सिंह व जिला कृषि अधिकारी सतीश कुमार पाण्डेय द्वारा अन्य विभागीय अधिकारियों के साथ संयुक्त रूप से चयनित किसानों को मूंग दलहन बीज के मिनी किट का वितरण किया गया।
:ःःःःःःःःःःःःःःःःःःःःःः
मानक के अनुसार निर्गत की जा रही है गन्ना पर्चियां: जिला गन्नाधिकारी
बहराइच 12 फरवरी। ‘‘पर्ची विवरण में हो रहा खेल, खेतो में सूख रहा गन्ना अधिकारी व दलालों के गठजोड़ से किसानों को लग रहा है झटका’’ शीर्षक से 12 फरवरी 2020 के अंक में मीडिया में प्रकाशित समाचार का खण्डन करते हुए जिला गन्नाधिकारी शैलेश कुमार मौर्या ने स्पष्ट किया है कि गन्ना आयुक्त उ.प्र. लखनऊ द्वारा पेराई सत्र 2019-20 हेतु जारी सट्टा नीति के अनुसार सदस्य गन्ना कृषकों के सर्वेक्षित गन्ना क्षेत्रफल की कम्प्यूटर मंे फीडिंग कराने के उपरान्त कलेण्डरिंग कराते हुये पक्ष/कालम के अनुसार गन्ना समिति द्वारा पर्चियां निर्गत की जा रही है। गन्ना विभाग के बेवसाइट डब्ल्यूडब्ल्यूडब्ल्यू डाट केनयूपी डाट इनएवं ई-गन्ना एप पर कृषक अपने गन्ना क्षेत्रफल, कैलेण्डर, सप्लाई की जानकारी प्राप्त कर सकते है।
गन्नाधिकारी श्री मौर्य ने बताया कि गन्ना किसान तीरथराम के सट्टे की जांच कराई गयी जांच में बेसिक कोटा एवं अतिरिक्त सट्टे को सम्मिलित करते हुए 78 पर्ची 20 कु. मानक अनुसार बनी है, जिसके सापेक्ष 24 पर्ची निर्गत हुई जिसपर कृषक द्वारा गन्ना आपूर्ति भी किया जा चुका है। जिसे ई0आर0पी0 पर देखा जा सकता है। रामछबीले के सट्टे की जांच में यह पाया गया कि कृषक मृतक है। कृषक के वारिसान का सट्टा बना हुआ है नियमतः वारिसानों को गन्ना पर्चियां प्राप्त हो रही है। विष्णु नाम का कोई कृषक गन्ना समिति में सदस्य नही ंहै। जनपद बहराइच का गन्ना रकबा सत्र 2017-18 में 68358 हे., सत्र 2018-19 में 88652 हे. तथा वर्तमान सत्र 2019-20 में 85736 हे. है। इस प्रकार मीडिया में प्रकाशित समाचार पूर्णतयः असत्य, भ्रामक और निराधार है

बेनकाब भ्रष्टाचार

Related Articles

Back to top button