उत्तर प्रदेशबहराइच

समय पर इलाज मिले तो कुष्ठ रोग से मुक्ति संभव

समय पर इलाज मिले तो कुष्ठ रोग से मुक्ति संभव

समय पर इलाज मिले तो कुष्ठ रोग से मुक्ति संभव

पयागपुर(बहराइच) 30 जनवरी से शुरू हुए राष्ट्रीय कुष्ठ रोग जागरूकता अभियान के उपलक्ष्य पर तहसील पयागपुर के ग्राम पंचायत नूरपुर में प्रधान के आवास पर एक दिवसीय जागरूकता कैंप लगाया गया। इस मौके पर सीएचसी प्रबंधन
आशा वर्कर् आँगनबाड़ी कार्यकर्ता एएनएम ने बारी बारी से समुदाय को कुष्ठ रोग के लक्षणों के प्रति जागरूक किया। स्वास्थ्य विभाग के बीपीएम अनुपम शुक्ल ने कहा गया कि इस रोग के प्रति आम लोगों को जागरूक करने के लिए पंचायत एवं गांव स्तर पर अभियान चलाया जाएगा जिसमें आशा महिला घर घर जाकर सम्पर्क करेंगी। जागरूकता शिविर में उन्होंने बताया कुष्ठ रोग से पीड़ित व्यक्ति से कभी ऐसा व्यवहार नहीं करना चहिए, जिससे उसके शारीरिक कष्ट के साथ मानसिक कष्ट भी हो। आज के समय में इस बीमारी का पक्का इलाज संभव है। समय पर इलाज देकर बीमारी से मुक्त किया जा सकता है। कई बार इंसान इस तरह के रोग से अनजान रहकर कुष्ठ रोगी बन जाता है। नीति आयोग के अरविंद सिंह ने कुष्ठ रोग के लक्षणों के प्रति भी लोगों को जागरूक किया। जिस तरह बरसात, सर्दी और भीषण गर्मी के दिनों में मानव शरीर पर कई प्रकार के ऐसे लक्ष्ण बनते हैं जो बढ़ते हुए भीषण रूप धारण कर लेते हैं। इन्हीं लक्षणों का अगर समय पर उपचार हो तो कोई भी ऐसा रोग नहीं है, जिसका उपचार न हो सके। बीपीएम ने कहा कि सरकारी अस्पतालों में इस तरह के रोगों की मुक्ति के लिए सभी प्रकार के उपचार उपलब्ध हैं। सिर्फ मरीज को समय पर अस्पताल पहुंच कर अपने रोग की जांच एवं उपचार करवाने की जरूरत है। इस मौके पर ग्राम प्रधान, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, आशा महिला वर्कर, ए.एन.एम, सहायिका नेहरू युवा केंद्र के अनुभव शुक्ल, सहित सैकड़ों ग्रामीण व महिलाएं भी उपस्थित रहें।

बेनकाब भ्रष्टाचार

Related Articles

Back to top button