लखीमपुर खीरी

मौसम के बिगड़े मिजाज ने, किसानों को किया तबाह

संवाददाता-रिजवान अली

मौसम का बुरा हाल तराई का किसान हुआ बेहाल
माह दिसम्बर में कई बार रुक रुक कर हुई बारिस ने पहले ही किसानों की हालत खराब कर रखी थी, पर पिछले दो दिनों से जारी बारिश ने किसान को बेहाल कर दिया है। विशेषकर जनपद लखीमपुर-खीरी का तराई क्षेत्र जो उद्यमों से कोशों दूर है, यहां जीविका का एकमात्र साधन कृषि निर्भरता है। तराई क्षेत्र का बेरोजगार युवा या तो कृषि कार्यों में संलग्न रहता है, अथवा जीविकोपार्जन के लिए रोजगार की तलाश में प्रदेश से बाहर का रुख करता है। बाहर का रुख करने हर युवा के लिए इतना आसान नही होता, क्योंकि दिमाल में स्वयं की देखभाल के साथ-साथ पीछे छूट रहे परिवार की चिंता भी बनी रहती है। बरसात के रुख ने किसान के माथे पर सिलवटें ला दी हैं। पहले ही हुई बारिस से गन्ने के खेतों में ज्यादा नमी हो गई, जो बीच-बीच में चली हवा के चलते अधिकांश गन्ना के खेत पलट गए। सरसों, चना, मसूर आलू, मटर आदि की फसलें पहलें से ही खराब स्थिति में पहुॅची हुई थी, अब तो 80 प्रतिशत इस क्षेत्र के गेंहू के खेत भी चैपट होने की स्थिति में आ गए हैं। खेतों में जलभराव होने के चलते गेंहू पीला पड़कर खराब होना प्रारम्भ हो गया है।
अभी तक किसान खेतों में उगी अपनी फसल को अपने प्रयोग के लिए संरक्षित करते हुए शेष फसल को अन्य कार्यों हेतु विक्रय कर लेता था, जिससे कि उस धनराशि, से उर्वरक, चिकित्सा, बीज व अन्य मूलभूत संसाधन व आवश्यकताओं की प्रतिपूर्ति हो सके, परन्तु अचानक से बदले मौसम के तेवर ने किसानों की स्थिति अत्यंत दयनीय कर दी है। बारिश की वजह से जहां एक ओर स्वयं के लिए अनाज की दिक्कत होगी, वहीं अन्य मूलभूत सुविधाओं में भी दिक्कतें आने की प्रबल संभावना उत्पन्न कर दी है।
बारिस की वजह से खराब हुई सब्जियों की फसल के चलते इस सत्र में सब्जियों पर महंगाई रहने की स्थिति उत्पन्न हो गई है। कई सब्जियाॅ, जैसे प्याज, टमाटर आदि पहले से ही अत्यंत महंगाई में हैं, परन्तु अब मटर, गोभी, व आलू जैसी मूलभूत सब्जी के भी महंगी होने के आसार उत्पन्न हो गए हैं।
इस बारिस के वजह से आम जनजीवन पर असर पड़ने के साथ-साथ स्कूल बंद किये गये हैं। बारिस के चलते चली शीतलहर से ठंड के प्रकोप में वृद्धि हुई है, और इसके चलते अबतक तीन बार दुधवा पर्यटन पर भी असर पड़ चुका है। निरंतर चल रही बारिस से पुनः एक बार विद्यालय बंद करने के आदेश जारी किए गए हैं।

बेनकाब भ्रष्टाचार

Related Articles

Back to top button