उत्तर प्रदेशगोण्डा

गोंडा जनपद में अलाव की अंगेठी बनी आर आई के मौत का कारण

गोण्डा नगर कोतवाली क्षेत्र में रात्रि में अधिक ठंड होने

 

गोंडा जनपद में अलाव की अंगेठी बनी आर आई के मौत का कारण

गोण्डा नगर कोतवाली क्षेत्र में रात्रि में अधिक ठंड होने के कारण आर आई राजेन्द्र कुमार पाधा का परिवार ठंड होने की वजह से अंगेठी जला कर सो गया।
रात्रि में उसमे निकलने वाली धुंवा से परिवार का दम घुटने लगा।
अचानक चिल्लाने की आवाज से मकान मालिक घर मे पहुचे और दरवाजे को खोलवा कर परिवार के सभी सदस्यों इलाज के लिए जिला अस्पताल ले जा रहे थे।
ले जाते समय रास्ते मे आर आई की मौत हो गई।
पत्नी और पुत्र की हालत गम्भीर होने पर उस को लखनऊ रेफर कर दिया गया। हापुड़ जिले के मुजफ्फरा बागड़ पुर गांव के निवासी राजेन्द्र कुमार पुत्र आसा राम और उनका 20 वर्षीय पुत्र गौरव, पत्नी कुसुम लता गुरुवार की रात्रि में खाना खाने के बाद परिवार के सभी लोग कमरे में सो गए। अचानक रात्रि करीब11 वजे तीनो लोगो की तबियत खराब हो गई। दम घुटने लगा घर मे चिल्लाने की आवाज आने लगे। किराए के मकान में रह रहे पंत नगर निवासी पूर्व सभा सद बंटी और उनका परिवार भी ऊपर के कमरे में पहुच गए। बेहाल लोगो को इलाज के लिए जिला अस्पताल ले गए। आर आई राजेन्द्र प्रसाद पाधा को चिकित्सक ने देखने के बाद मृत्यु घोषित कर दिया। कुसुमलता और पुत्र गौरव की हालत गम्भीर होने पर लखनऊ रेफर कर दिया। मृतक आर आई राजेन्द्र प्रसाद श्रावस्ती जिले में परिवहन विभाग में आर आई के पद पर कार्यरत था। मृत्यु होने की सूचना मिलते ही परिवहन विभाग के आर टी ओ प्रशासन एम डब्लू खान सहित गोण्डा के परिवहन विभाग के आर टी ओ सहित तमाम लोग पहुच गए। पहले लोग मौत का कारण जहर खाने की बात कह रहे थे। बाद में मृतक के भाई सुरेंद्र कुमार पाधा ने बताया कि परिवार के लोग अलाव की अंगेठी जला रखा था। सोने से पहले उस को बुझाया नही था। इस की वजह से उस मे निकलने वाली खतरा नाक धुंवा से लोगो की तबियत खराब हो गई। इसी की वजह से मौत हो गई। मृतक आर आई के दो बच्चें है। मृतक आर आई कुछ दिन गोण्डा में भी रह चुके थे। श्रावस्ती के आर टी ओ प्रशासन एम डब्लू खान ने बताया कि गुरुवार के दिन कार्यालय का कार्य निपटा कर ही यही से निकले थे। पुलिस ने शव को अपने कब्जे में लेकर पोस्ट मार्टम को भेजा है।

रिपोर्ट भरत कसौधन
ब्यूरो चीफ गोंडा

बेनकाब भ्रष्टाचार

Related Articles

Back to top button