उत्तर प्रदेशगोण्डा

*गोण्डा जनपद में स्त्री आर्य समाज का समापन*

गोण्डा जनपद में आज स्त्रीआर्य समाज मालवीय नगर गोंडा प्रत्येक वर्ष की भांति इस वर्ष भी अपना वार्षिक उत्सव बड़े धूमधाम के साथ मना रही है।

 

*गोण्डा जनपद में स्त्री आर्य समाज का समापन*

  1. गोण्डा जनपद में आज स्त्रीआर्य समाज मालवीय नगर गोंडा प्रत्येक वर्ष की भांति इस वर्ष भी अपना वार्षिक उत्सव बड़े धूमधाम के साथ मना रही है।
    चार दिवसीय कार्यक्रम के अंतर्गत कार्यक्रम के प्रथम दिवस का प्रथम प्रहर वैदिक मंत्रोच्चार के साथ प्रारंभ हुआ। जिसमें यज्ञ के ब्रह्मा आचार्य विष्णु मित्र शास्त्री जी रहे। जिन्होंने यज्ञ पर प्रकाश डालते हुए मनुष्य को अपनी आयु वेदों पर आधारित बनाने का उपाय बताया ऒर इसीलिए सात्विक भोजन पर बल दिया ।
    देशभक्ति की भावना से परिपूर्ण मानव जीवन को सफल बनाने में क्या भूमिका निभाई जा सकती है उस पर प्रकाश डाला ।
    इसी क्रम में प्रख्यात वैदिक विद्वान आचार्य आर्य नरेश शास्त्री जी जो हिमाचल प्रदेश से पधारे हुए हैं उन्होंने सरल शब्दों में वैदिक जीवन को कैसे आत्मसात करें ।
    इसका उपाय बताया संपूर्ण विश्व का कल्याण कैसे संभव है प्राचीन काल में ऋषि मुनि या साधारण मनुष्य अपने जीवन को कैसे सफल बनाते थे बृहद रूप से प्रकाश डालते हुए मानव जीवन को सफल बनाने का संकल्प दिलाया। आर्य भजन सम्राट पंडित नरेश दत्त आर्य जी ने वेदों की महिमा है न्यारी आज समझ लेना नर नारी पर प्रकाश डालते हुए पाखंड अंधविश्वास को अपने जीवन में न अपनाने की प्रेरणा दी।
    वहीं युवा भजन उपदेशक पंडित दिनेश पथिक जी ने मधुर भजन अनगिनत प्राणी जगत में सबका दाता एक है एवं ईश्वर जो कुछ करता है अच्छा ही करता है मानव तू परिवर्तन से काहे को डरता है के, माध्यम से श्रोताओं को मंत्रमुग्ध कर दिया अपराहन का कार्यक्रम स्वामी श्रद्धानंद बलिदान दिवस के रूप में मनाया गया।
    स्वामी श्रद्धानंद जी का जीवन हम सभी के लिए प्रेरणा दायी है। मनुष्य बुरी संगत में रहते हुए किस तरह से अपने आपको कमल की तरह रख सकता है।
    सामाजिक बुराइयां उस पर कोई प्रभाव नहीं डाल सकती हैं। स्वामी जी का जीवन आज हम सबके लिए प्रेरणादायी है इसलिए बलिदान दिवस के रूप में मनाते हैं।
    इस अवसर पर स्त्री और समाज की प्रधाना श्रीमती अनीता राजपाल प्रतिष्ठित सदस्य श्रीमती सावित्री सक्सेना मंत्राणी श्री विनय कुमारी उप प्रधाना श्रीमती संध्या आर्य कोषाध्यक्ष श्रीमती माया मिश्रा उपमंत्राणी श्रीमती निशा श्रीवास्तव, पुस्तकालयाध्यक्ष श्रीमती मीना गुप्ता अंतरण सदस्य श्रीमती अंबिका देवी, श्रीमती सुमन तिवारी, श्रीमती उर्मिला सक्सेना श्रीमती सत्य वती, श्रीमती वंदना सक्सेना ,श्रीमती प्रभा सक्सेना, विवेक आर्य ,आलोक आर्य, सत्य प्रकाश आर्य विनोद आर्य दिव्यांशी, गरिमा, तेजस्विनी, अक्षिता एवं जनपद के तमाम गणमान्य व्यक्ति उपस्थित रहे।

रिपोर्ट भरत कसौंधन
ब्यूरो चीफ कसौंधन

बेनकाब भ्रष्टाचार

Related Articles

Back to top button