Breaking Newsआजमगढ़

माध्यमिक विद्यालयों के एनपीसी (न्यू पेंशन स्कीम) कटौती में करोड़ों रुपये के घोटाला।

बी बी न्यूज़

माध्यमिक विद्यालयों के एनपीसी (न्यू पेंशन स्कीम) कटौती में करोड़ों रुपये के घोटाला किए जाने का मामला प्रकाश में आया है।
आजमगढ़, जेएनएन। माध्यमिक विद्यालयों के एनपीसी (न्यू पेंशन स्कीम) कटौती में करोड़ों रुपये के घोटाला किए जाने का मामला प्रकाश में आया है। जिले में लगभग 800 शिक्षक है जिनमें एक शिक्षक से 12000 रुपये की कटौती की जाती है। इस प्रकार अब तक लगभग 36 करोड़ रुपये की कटौती की गई है। कटौती के बाद अभी तक छह माह को छोड़कर बाकी का एक रुपये भी प्रान खाते में जमा नहीं किया गया। जिला विद्यालय निरीक्षक कार्यालय की संवेदनहीनता के कारण 30 करोड़ रुपये की धनराशि घोटाले की भेंट चढ़ गई।नई पेंशन योजना के अंतर्गत 38 माह में अब तक मात्र छह माह की कटौती की राशि खाते में जमा की गई है। माध्यमिक विद्यालयों में एक अप्रैल 2005 से नवीन अंशदायी पेंशन योजना लागू की गई है। इसके अंतर्गत शिक्षकों एवं कर्मचारियों से देय वेतन की 10 फीसद कटौती की जाती है। उतनी ही धनराशि राज्य सरकार द्वारा अंशदान के रूप में प्रदान की जाती है। डीआइओएस कार्यालय की उदासीनता के कारण योजना लागू होने के 11 वर्ष बाद जून 2016 से कटौती प्रारंभ की गई। डीआइओएस द्वारा पत्र के माध्यम से माध्यमिक शिक्षक संघ को अवगत कराया गया था कि धनराशि खाते में भेजी जा रही है लेकिन लिखित पत्र के द्वारा दी गई सूचना गलत साबित हुई। इससे स्पष्ट है कि बची हुई धनराशि घोटाले की भेंट चढ़ गई। बहरहाल, शिक्षकों का आरोप कितना सही है और जिला विद्यालय निरीक्षक कार्यालय की पारदर्शी प्रक्रिया जाने लेकिन घोटाले का आरोप बहुत बड़ा है।

बोले डीआइओएस : शिक्षक निराधार आरोप न लगाएं। एनपीसी कटौती की धनराशि सीधे ट्रेजरी में जमा होती तो एक भी पैसे का गोलमाल कैसे हो सकता है। कटौती की धनराशि धीरे-धीरे शिक्षकों के खाते में भेजी जा रही है। शिक्षकों के सारे आरोप बेबुनियाद व निराधार हैं।-डा. वीके शर्मा, जिला विद्यालय निरीक्षक, आजमगढ़।

शिक्षकों की बैठक, धरने की चेतावनी : उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षक संघ (शर्मा गुट) की शुक्रवार को हरिऔध नगर कार्यालय में बैठक हुई। इसमें नवीन पेंशन योजना के अंतर्गत एनपीसी की कटौती में डीआइओएस कार्यालय द्वारा करोड़ों रुपये घोटाले का आरोप लगाया गया गया। संगठन के जिलाध्यक्ष बृजेश राय एवं संगठन के मीडिया प्रभारी वीरेंद्र मौर्य ने कहा कि कटौती की राशि पर मिलने वाले करोड़ों रुपये ब्याज का भी नुकसान हो रहा है। जिला मंत्री विजय कुमार सिंह ने कहा कि चेतावनी दी कि यदि 28 अगस्त तक कटौती की गई संपूर्ण धनराशि ब्याज सहित प्रान खाते में जमा नहीं की गई तो 29 अगस्त से डीआइओएस कार्यालय एवं संयुक्त शिक्षा निदेशक कार्यालय के सामने अनिश्चितकालीन धरना दिया जाएगा।

बेनकाब भ्रष्टाचार

Related Articles

Back to top button