Breaking Newsसिंगाही खीरी

सिगांही खीरी। कस्बे में सोमवार को ईद उल जुहा(बकरीद)हर्षोउलास के साथ मनाई गई।

रिजवान अली की रिपोर्ट ।

संवादाता। रिजवान अली

*सिगांही खीरी। कस्बे में सोमवार को ईद उल जुहा(बकरीद)हर्षोउलास के साथ मनाई गई*

सिंगाही खीरी। कस्बे में सोमवार को ईद उल जुहा (बकरीद) हर्षाेल्लास के साथ मनाई गई। मुस्लिम समुदाय के हजारों लोगों ने सुबह ईदगाह की मस्जिद में पहुंच कर ईद की नमाज अदा की। इस दौरान बच्चों, युवकों और बुजुर्गों ने एक दूसरे को ईद की बधाई दी। वहीं मौलाना वली मोहम्मद ने अपनी-अपनी तकरीर में अमन शांति का पैगाम दिया।
कस्बे में ईद उल जुहा की रौनक कई दिनों से दिखाई दे रही थी, मगर रविवार की शाम से ईद की खुशी अपने चरम पर थी। लोग नए कपड़े पहनकर ईद उल जुहा की नमाज अदा करने पहुंचे। जहां नमाज अदा करने के विशेष प्रबंध किए गए थे। लोग समय से पहले ही मस्जिदों में नमाज अदा करने पहुंच गए थे। लोगों ने नमाज अदा करने के बाद एक-दूसरे को ईद की बधाई दी। इस दौरान बच्चों का उत्साह देखते ही बन रहा था। नमाज अदा करने के बाद वे काफी देर तक मस्जिद परिसर में इधर-उधर चहकते घूमते रहे। उन्होंने भी एक-दूसरे को ईद की बधाई दी। नमाज अदा करने से पहले मौलाना वली मोहम्मद ने अपनी-अपनी तकरीर में अमन चैन का पैगाम दिया। इस दौरान उन्होंने हजरत इब्राहिम और उनके बेटे हजरत इस्माइल के बलिदान की कहानी जिक्र किया। उन्होंने मुस्लिमों से इस्लाम से संबंधित कायदे कानूनों का सच्चे तरीके से अनुसरण करते हुए अल्लाह ताला व उनके पैगंबर से मोहब्बत करने की अपील की। उन्होंने कहा कि इस्लाम ऐसा धर्म है जो आपसी स्नेह और भाईचारा का हिमायती रहा है। मस्जिदों के बाहर और आसपास के इलाकों में थानाध्यक्ष अजय कुमार रॉय ने सुरक्षा के कड़े प्रबंध किये थे। नगर पंचायत अध्यक्ष उत्तम मिश्र की ओर से साफ-सफाई के बेहतर इंतजामात थे। मस्जिदों में नमाज अदा करने के बाद मुस्लिम समुदाय के लोगों ने घरों में जाकर कुर्बानी दी और कई तरह के पकवान बनाए और एक दूसरे के घर दावत में पहुंचे। बकरीद के मौके पर अन्य धर्म के लोगों ने भी अपने मुस्लिम दोस्तों को ईद की बधाइयां दीं और दावत में शरीक हुए।

बेनकाब भ्रष्टाचार

Related Articles

Back to top button