Breaking Newsगोण्डा

गोण्डा जनपद के धानेपुर क्षेत्र में बना नकली शराब बनाने का गढ़।

बी एल कसौधन की रिपोर्ट

*गोण्डा जनपद के धानेपुर क्षेत्र में बना नकली शराब बनाने का गढ़*

गोण्डा जनपद के थाना क्षेत्र धानेपुर इन दिनों नकली शराब बनाने मे महारत हासिल कर रहा है। जहां इस नकली शराब के बनाने वाले शराब बेच कर मालामाल हो रहे हैं। वहीं मलाई काटने मे स्थानीय पुलिस भी नहीं चूक रही।
यू तो क्षेत्र के दर्जनों गावों मे नकली शराब बनाने का कारोबार धड़ल्ले से संचालित किया जा रहा है मगर इस थाना क्षेत्र का पुलिस का कमाऊपूत कहा जाने वाला मौजा पृथ्वीपालगंज ग्रंट व इसका मजरा स्थानीय पुलिस के लिए किसी कमाऊपूत से कम नही है।
नवागत कप्तान ने जिले की कमान संभालने के तुरंत बाद नकली शराब बनाने व बेचने वालों पर सख्ती करने के निर्देश थानाध्यक्षों को दिये थे मगर इसका रत्ती भर असर धानेपुर थाना अंतर्गत पड़ता नहीं दिख रहा है।
आलम यह है कि इस छोटे से मजरे मे लगभग आधा दर्जन भट्ठियां बेरोक टोक धधक रही हैं और प्रतिदिन सैकड़ो लीटर नकली शराब बनाकर गैर जनपद बलरामपुर तक सप्लाई की जाती है। क्षेत्रीय लोगों का मानना है कि स्थानीय पुलिस इन अवैध रूप् से नकली शराब बनाने व बेचने वालों से माहवार सुविधा शुल्क लेती है। जिसके कारण बनाने व बेचने वाले खुलेआम इस धंधे को अंजाम दे रहे हैं। सूत्र तो यहां तक बताते हैं कि जब ऊपर से ज्यादा दबाव होता है तो केवल उनको 10-5 लीटर शराब के साथ पकड़ कर जेल भेज देते हैं जो इन्हे सुविधा शुल्क कम व देने में थोड़ा बहुत आनाकानी करते हैं। उन्हे पकड़ कर अधिकारियों के सामने अपनी पीठ थपथपा लेते हैं और कोई ठोस कार्यवाही न होने के कारण वह पुनः इसी फायदे के धंधे मे लग जाता है।
इस थाना क्षेत्र के सेमरही, गुप्तारपुरवा, खटिकनपुरवा, मंगरेपुरवा के अतिरिक्त हथिया मड़िया, त्रिभुवन नगर ग्रन्ट व राजापुर के कई मजरों मे नकली शराब बनाने का धंधा कुटीर उद्योग की तरह चल रहा है। क्षेत्रीय लोगों का कहना है कि पुलिस यदि अवैध शराब की बिक्री पर पूरी इमानदारी से रोक लगा दे तो आपराधिक घटनाओं का ग्राफ कम होगा।

बेनकाब भ्रष्टाचार

Related Articles

Back to top button